जयपुर में जय महाराष्ट्र

Leave a comment

December 21, 2016 by pickleball times

तीन स्वर्ण, एक रजत एवं एक कास्य पदक पर कब्जा जमाते हुए महाराष्ट्र ने चौथे राष्ट्रीय पिकबॉल प्रतियोगिता में लगातार दूसरी बार अपनी दमदार मौजूदगी दर्ज की है। गुलाबी शहर के रूप में विख्यात जयपुर के अत्याधुनिक सवाई मानस‌िंह स्टेडियम में १२ एवं १३ नवंबर को प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। मेजबान राजस्थान दूसरे नंबर विराजमान रहे।

अमेरिका समेत तमाम देशों के खेलप्रेमियों की नजर भारत में होने वाली इस प्रतियोगिता पर लगी थी। क्योंकि अमेरिका में जन्मे इस खेल ने दुनियाभर में भले ही लोकप्रियता हासिल की हो, पंरतु इस खेल के प्रसार में भारत शिखर पर है।

११ राज्यों के १५० से अधिक खिलाड़ियों ने इस खेल में भाग लिया। केरल, उत्तराखंड एवं सिक्किम राज्यों का पहली बार सहभाग एवं पश्चिम बंगाल तथा तमिलनाडू राज्यों व्दारा इस खेल को शुरू करने में दिखाई गई रूचि इस बार की प्रतियोगिता की खास विशेषताएं रहीं ।

प्रतियोगिता के पहले दिन ही सवाई मानसिंग इनडोर स्टेडियम के वुडेन कोर्टपर पुरुष, महिला एवं मिक्स्ड स्वरूप की प्रतियोगिताएं हुईं, अगले दिन सेमीफाइनल एवं फाइनल खेल संपन्न हुए।

राजस्थान के निखिल सिंह राजपूत एवं महाराष्ट्र के अनिकेत दुर्गावले के बीच पुरूष सिंगल्स के फाइनल का खेल हुआ। दोनों तरफ से अव्दितीय प्रतिभा का प्रदर्शन हुआ। पहले सेट में निखिल ने ११-५ सेट से अनिकेत पर तो दूसरे सेट में अनिकेत ने ११-८ से निखिल पर मात करते हुए खेल की उत्सुकता को बनाए रखा, परंतु निखिल सिंह ने अंतिम सेट में बेहतरीन खेल दिखाते हुए ११-२ से मात कर खेल अपने नाम कर लिया।

पुरूष डबल्स फाइनल्स पर सभी की नजरें टिकी हुई थीं। इसमें भी राजस्थान और महाराष्ट्र के बीच मुकाबला हुआ। मनीष राव एवं भूषण पोतनीस बनाम भारत राज शर्मा एवं प्रशांत कलानी के बीच । इस बार एक और खास बात रही थी की २०१५ में पानीपत के शिवाजी स्टेडियम में डबल्स के फाइनल्स में मनीष एवं भारत राज एकदूसरे के सामने आ चुके थे। उस समय भारत राज एवं मुख्तार अली ने मनीष राव एवं सचिन मांद्रेकर को परास्त कर दिया था।

इस बार के फाइनल में मनीष एवं भूषण ११-५ के अंतर से पहला ही सेट अपने नाम कर लिया। दूसरे सेट में राजस्थान के खिलाड़ियों ने आगे आने की पूरी कोशिश की ,परंतु सभी कयासों को गलत साबित करते हुए महाराष्ट्र के मनीष एवं भूषण ने दूसरा सेट भी ११-७ से जीतकर सामना अपने नाम कर लिया।

सेमी फाइनल में इसी मनीष एवं भूषण बनाम बिहार के आनंद सिहं एवं अभय कुमार के बीच हुई टक्कर में बिहार के खिलाड़ियों नें जबरदस्त क्षमता का परिचय देकर दर्शकों को अ‌भीभूत कर दिया। तीसरे स्थान के लिए हुई प्रतियोगिता में भी बिहार के इन खिलाड़ियों ने जयपुर के मुख्तार अली एवं अनुराग चौहान को हराकर कांस्य पदक अपने नाम कर लिया।

मध्य प्रदेश की शुभी व्यास ने लगातार तीसरी बार गोल्ड मेडल जीतकर महिला सिंगल की गोल्डन गर्ल का अपना खिताब बरकरार रखा। फाइनल में राजस्थान की रेखा चौधरी ने काफी प्रयत्न किए परंतु शुभी ने जीत का सिलसिला जारी रखा। महिलाओं की सिंगल्स में कास्य पदक के लिए महाराष्ट्र की प्रतिक्षा बावडेकर एवं जागृती जव्हार के बीच हुए मुकाबले में प्रतिक्षा ने बाजी मार ली।

महिला डबल्स में महाराष्ट्र की करिश्मा एवं रितुजा इन कालिका सिस्टर्स ने गोल्ड मेडल का खिताब जीत लिया। राजस्थान की मधुलिका चौधरी एवं गरिमा गौर पर ११-२ एवं ११-३ से मात देते हुए कालिका सिस्टर्स ने यह जीत दर्ज की। मध्य प्रदेश की शिवानी सोनी एवं उर्मिला आजाद की जोड़ी ने कास्य पदक पर अपना कब्जा जमाया।

मिक्स डबल्स में महाराष्ट्र के अतुल एडवर्ड एवं नताशा बनाम राजस्थान के अश्विन कुमार वाधवा एवं कविता शेखावत के बीच हुए मुकाबले के पहले सेट में अतुल एवं नताशा ने ११-१ से तो दूसरे सेट में राजस्थान के अश्विन एवं कविता ने ११-५ के अंतर से जीत दर्ज की। परंतु अंतिम सेट में महाराष्ट्र के खिलाड़ियों ने ११-६ के सेट से जीत अपने नाम दर्ज कर डाली।

उद्घाटन समारोह

चौथे वरिष्ठ पिकलबॉल प्रतियोगिता उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि राजस्थान क्रीडा परिषद के सचिव नारायण सिंह थे। उद्घाटन के औपचारिक शुरूआत के बाद उन्होंने खिलाड़ियों से बातचीत कर उनका हौसला बढ़ाया, साथ ही सभी १५० खिलाडियों के लिए राजस्थान के मशहूर ‘चूरण दाल बाटी’ खाने की भी व्यवस्था की थी। इस अवसर पर मंच पर ऑल इंडिया पिकलबॉल असोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी सुनील वालावलकर, अनिल शर्मा, राजस्थान पिकलबॉल असोसिएशन के अध्यक्ष रघुराज सिंह भी उपस्थित थे।

प्रतियोगिता के पुरस्कार वितरण एवं समापन समारोह पुलिस महानिदेशक रविप्रकाश मेहदरा एवं ऑलंपिक खिलाड़ी श्रीराम सिंह के हाथों संपन्न हुए। सुनील वालावलकर, रघुराज सिंह, सुरेंद्र सिंह भी उपस्थित थे।

स्थानीय आयोजन समिति के करण स‌िंह शेखावत एवं नीतू शर्मा एवं सभी स्वयंसेवकों को अथक प्रयासों से यह प्रतियोगिता सफल हो पाई।

राहुल वाणी, निकिता भुवड़ ने ‌नियत समय के अनुसार सभी प्रतियोगिताओं के आयोजन की जिम्मेदारी निभाई। कृष्णा गुप्ता, योगेश गोरखे, प्रणय किंजले आदि लोगों ने रेफरी की भूमिका काफी सावधानी से निभाई।

रंजान गुप्ता (बिहार), बलवंत सालुंके एवं धर्मेश यशलहा (मध्य प्रदेश), देवानंद पांडे (झारखंड), राजिंदर देसवाल (हरियाणा), अमित कुमार राणा (उत्तराखंड), शैलेश गवली, विजय म्हस्के, अमित वेंगुर्लेकर, नितिन सेठी, राजेश वाघमारे (महाराष्ट्र) के साथ केरल, सिक्किम एवं पुडुचेरी आदि राज्यों के संघटक मौजूद थे।

 

स्वर्ण पदकों की हैट्रिक

मध्य प्रदेश की शुभी व्यास ने लगातार तीन साल स्वर्ण पदक जीता. इसके पहले उन्होंने २०१५ में पानीपत एवं २०१४ में मुंबई में भी स्वर्ण पदक जीता था। आगे भी वे अपीन जीत का सिल‌सिला बरकरार रखेंगी ऐसी उम्मीद जताई जा रही है।—

अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी

महाराष्ट्र मुंबई के मनिश राव एवं अतुल एडवर्ड ये अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी इस प्रतियोगिता के विशेष आकर्षक रहे। मनिष राव ने २०१५ में स्पेन के माद्रिद में हुई प्रतियोगिता में पदक जीता था तो अतुल एडवर्ड ने २०१४ में नेदरलैंड में देश के लिए स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। मनिष मेन डबल्स में तो अतुल मिक्स डबल्स में अपने जोडीदारों के साथ खेले। इनका खेल देखने के लिए दर्शक भी उत्सुक थे। अंतरराष्ट्रीय स्तर के इन खिलाड़ियों का राजस्थान क्रीडा परिषद के सचिव सचिन नारायण सिहं के हांथों राजस्थानी पगड़ी पहनाकर एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मान किया गया।

 

थ्री स्टेट्स

इस बार की प्रतियोगिता में केरल, सिक्किम एवं उत्तराखंड इन तीन नए राज्यों का आगमन हुआ। इन राज्यों के खिलाड़ियों ने भले ही कोई पुरस्कार न जीते हों, परंतु अपने खेल के जरिए उन्होने दर्शकों का मन जरूर मोह लिया। इन तीन राज्यों की वजह से खिलाड़ियों की संख्या भी काफी बढ़ गई थी। प्रतियोगिता में विविध संस्कृति, बोली, भाषा एवं राष्ट्रीय एकता के भी दर्शन हुए।

 

विजयी खिलाडी

मेन सिंगल

निखील सिंग राजपूत (राजस्थान)

अनिकेत दुर्गावले (महाराष्ट्र)

कमल गुप्ता (पिंक सिटी जयपूर)

 

वुमन सिंगल

शुभी व्यास (मध्य प्रदेश)

रेखा चौधरी (राजस्थान)

प्रतिक्षा बावडेकर (महाराष्ट्र)

 

मेन डबल्स

मनिष राव व भूषण पोतनिस (महाराष्ट्र)

भारत राज शर्मा व प्रशांत कलानी (राजस्थान)

आनंद सिंग व अभय कुमार (बिहार)

 

वुमन डबल्स

करिष्मा कालिके व ऋतुजा कालिके (महाराष्ट्र)

मधुलिका चौधरी व गरीमा गौर (राजस्थान)

शिवानी सोनी व उर्मिला आझाद (मध्य प्रदेश)

 

मिक्स डबल्स

अतुल एडवर्ड व नताशा (महाराष्ट्र)

अश्विनी कुमार वाधवा व कविता शेखावत (राजस्थान)

नीरज शर्मा व मेघा कपूर (पिंक सिटी जयपूर)

 

 

कौनेसे राज्य सम्मिलित हुए?

राजस्थान

पिकं सिटी जयपूर

महाराष्ट्र

मध्यप्रदेश

हरयाणा

बिहार

झारखंड

पुडुचेरी

सिक्कीम

केरला

उत्तराखंड

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Visitors

  • 5,068

Categories

Top Clicks

  • None

Social

December 2016
M T W T F S S
« Nov   Jan »
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293031  

Enter your email address to follow this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 458 other followers

Social

%d bloggers like this: